January 21, 2022

DVNA

Digital Varta News Agency

प्रशासन की सांठ गांठ से फल फूल रहा अवैध खनन का कारोबार

मुरादाबाद। डीवीएनए
न्यायालय के आदेश के बाद भी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर परमीशन की आड़ में खनन कारोबारी धरती व नदियों का सीना चीरकर जीसीबी मशीनो व डंपरो से मिट्टी, बालू का अवैध खनन कर मोटा मुनाफा कमा रहे है।

खनन माफियाओं द्वारा स्थानीय प्रशासन से सांठ गांठ कर सरकारी काम की आढ़ में मिटटी व रेत का अवैध खनन किया जा रहा है। खुली छूट मिलने के कारण खनन माफियाओं के होसले बुलंद है।

ज्ञात हो कि नगर व तहसील क्षेत्र के गांव रामनगर खागूवाला, मानावाला, शरीफनगर, फरीदनगर, गोपीवाला, असलेमपुर, माधोवाला, मानपुर दत्तराम, बथुआखेड़ा, फौलादपुर, कमालपुरी, पसियापुरा पदार्थ, गंझेड़ा आलम, कल्यानपुर, पृथ्वीपुर गांवड़ी, रतुपुरा, बैजनाथपुर सहित दर्जनों अन्य गांवों में खुलेआम दिन रात ट्रैक्टर-ट्राली, जेसीबी मशाीनों से क्षेत्र की फीका नदी, कुडका नदी, लपकना नदी सहित किसानोें के खेतों से चोरी-छिपे बड़े पैमाने पर धरती का सीना चीरकर स्थानीय प्रशासन की सांठगांठ से मिट्टी व बालू का अवैध खनन किया जा रहा है।

जेसीबी मशीन ट्रैक्टर-ट्राली व डंपर की गड़गहाट से ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों का रहना दुश्वार हो गया है। साथ ही मिट्टी से भरी ट्रैक्टर-ट्राली व डम्परों से गिरने वाली मिट्टी से रास्ते भी अट चुके है जो रातो को ट्रैक्टर ट्राली के टायरों से उड़कर लोगों के घरों में उड़कर पहुंच रही है। जिससे लोग विभिन्न बीमारियों की चपेट मेेे आ रहे है। क्षेत्रवासियोें का कहना है कि जल्द ही प्रशासन ने खनन माफियों के खिलाफ शिकंजा नही कसा तो क्षेत्र की जनता खनन माफियाओं सहित स्थानीय प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरने को मजबूर होगी। ग्रामीणो का कहना है कि खनन कारोबारी जनप्रतिनिधियो के नाम पर भी अवैध खनन कर रहे है। जबकि जन प्रतिनिधियों को अवैध खनन की भनक भी नही है।

धूल के कारण बढ़ी क्षेत्र में बिमारियां,
ट्रैक्टर-ट्राली व जेसीबी मशीन की गड़गहाट से उड़ने वाली धूल से लोग सांस, दमा, खांसी, जुकाम, खाज, खुजली सहित विभिन्न बीमारियों की चपेट मेें आ रहे हैँ। साथ ही रात को पढ़ने वाले छात्र भी इस धूल की चपेट में आकर बीमार पड़ने लगे है।
संवाद यामीन विकट