January 21, 2022

DVNA

Digital Varta News Agency

अधर्म ना हो जाए संभाल के करें पतंगबाजी

राजीव गुप्ता

डीवीएनए। हम सभी जानते हैं मकर संक्रांति में शहर के क्या ग्रामीण सभी इलाकों में पतंगबाजी बड़े उत्साह के साथ की जाती है|अबे काटा पेच की आवाज के साथ आनंद दुगना हो जाता है| परंतु हमारे इस आनंद में कहीं ना कहीं हम जो पक्षी हमारे लिए पर्यावरण को सुरक्षित रखते हैं वह जो घायल हो जाते हैं और हम सनातन धर्म का अनादर कर देते हैं|

हमारे धर्म अनुसार हमें किसी भी जीव को चोटील करने का अधिकार नहीं है| कई शहरों के जिलाधिकारियों ने कुछ व्यवस्थाएं की है| पहली पतंग उड़ाने वालों को किसी भी पक्षी पक्षी को घायल होने से बचाना होगा साथ ही नगर निगम व जिला प्रशासन के साथ इन घायल पक्षियों की तीमारदारी के लिए कैंप भी लगाते हैं|

गत दिवस शहर में एक उल्लू मांझे से चोटिल हो गया था इस बात को मद्देनजर रखते हुए हमें इस बार और एहतियात बरतनी होगी| मेरी आपके सम्मानित अखबार के माध्यम से सभी मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने वाले पतंगबाजों से करबद्ध प्रार्थना है कि वह पतंग का मजा जरूर ले पर इस बात का भी ध्यान रखें कि कोई भी पक्षी उनके मंजे से घायल ना हो सके|

साथ ही नगर निगम व जिला प्रशासन और अन्य सामाजिक संस्थाओं से निवेदन है कि वह जगह जगह पर कैंप लगाकर इन घायल पक्षियों की चिकित्सा सुविधा के लिए इंतजाम करें| आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि हमारे शहर के गणमान्य नागरिक हमारी अपील पर अवश्य ध्यान देंगे और आप अपने सम्मानित अखबार में हमारी इस अपील को जनहित में प्रकाशित करने का कष्ट करेंगे ।ज़िलाधिकारी जी अनुरोध हैं चिकित्सा कैम्प लगवाने की कृपा करें।

राजीव गुप्ता जनस्नेही की कलम से