October 25, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

दहेज़ उत्पीड़न के आरोप में पति सहित सात पर मुकदमा दर्ज

मुरादाबाद। डीवीएनए
ठाकुरद्वारा में दहेज़ में 4 लाख रुपये की नकदी व स्विफ्ट कार की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को प्रताड़ित करने और बाद में उसे जंगल में छोड़ देने की शिकायत पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेश पर कोतवाली पुलिस ने आरोपी पति सहित सात लोगों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

कोतवाली क्षेत्र के गांव सरकड़ा करीम निवासी वर्षा पुत्री रामपाल की शादी वर्ष जून 2018 में थाना भोजपुर क्षेत्र के गांव बारूभूड़ा निवासी नवनीत पुत्र कल्लू सिंह के साथ हुई थी। विवाहिता का कहना था कि उसके पिता ने शादी में तीन लाख रुपये नकद व बुलेट बाइक सहित लगभग 15 लाख रुपये की शादी की थी। आरोप है कि जब तक उसके ससुराल वालों के पास नकदी रही तबतक ठीक रहा बाद में उसके ससुराल वाले उससे दहेज़ की मांग करते हुए 4 लाख की नकदी व स्विफ्ट कार की मांग करने लगे। आरोप है कि छोटी छोटी बातों पर उसकी सास कांता देवी,ननद श्वेता, देवर अमित, अंकित,ससुर कल्लू सिंह व चचिया सास बबिता उसे ताने देते थे और जब वह इसकी शिकायत पति से करती थी तो वह उसे मारता पीटता था।

विवाहिता का आरोप था कि उसका देवर अमित अक्सर उसके साथ अश्लील हरकतें करता था। मामले की शिकायत विवाहिता के द्वारा अपने पिता से करने पर उक्त ससुराल वालों को उसके पिता ने 50 हज़ार रुपये भी दिये थे लेकिन उक्त लोगो पर कोई फर्क नही पड़ा और उनकी मांग जारी रही। इसी के चलते विवाहिता को मारा पीटा जाना जारी रहा। आरोप ये भी है कि जब उसे 15 दिनों तक खाना भी नहीं दिया गया और उसकी हालत खराब हो गई तो उसे बीती 9 नवम्बर को पीपलसाना क्रासिंग के पास जंगल मे छोड़ दिया गया।

विवाहिता ने शिकायत में ये भी कहा है कि वह तीन बार गर्भवती हुई लेकिन उक्त लोगों ने तीनों बार उसका गर्भपात करा दिया।विवाहिता द्वारा उक्त शिकायत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजकर की गई थी जिसपर कोतवाली पुलिस ने सोमवार को विवाहिता के पति सहित उक्त सभी सात लोगों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।
संवाद यामीन विकट