June 14, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

संपूर्ण समाधान दिवस में गूंजा रुखसाना की मौत का मामला

मुरादाबाद डीवीएनए संपूर्ण समाधान दिवस में कोविड-19 की चपेट में आकर विवाहिता की मौत के मामले में मृतक विवाहिता के परिजनों ने जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मृतका के शव को कब्र से खोदकर पी एम कराने की मांग उठाई ‌। जबकि अधिवक्ताओं ने तहसीलदार के खिलाफ फिर से मोर्चा खोला तो जिलाधिकारी ने तहसीलदार से नाराजगी जताई।

संपूर्ण समाधान दिवस में कुल 33 शिकायतें आई जिनमें से चार का ही मौके पर निस्तारण हो पाया। ठाकुरद्वारा में मंगलवार को उप जिलाधिकारी सभागार में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया । गत 14 से 15 अगस्त के बीच नगर के मोहल्ला बाग वाले उर्स के निकट रहने वाली विवाहिता रुखसाना पत्नी मोहम्मद इकराम की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत होने के मामले में मृतका की मां हनीफा बेगम और परिजनों ने सम्पूर्ण समाधान दिवस मे जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मृतका का शव कब्र से निकालकर उसका पीएम कराने की मांग की मृतका के परिजनों का कहना था कि उनकी बेटी की मौत करोना से नही हुई है बल्कि उसकी हत्या की गई है। लेकिन जिलाधिकारी ने इसकी अनुमति देने से साफ इनकार करते हुए कहा कि पीएम कराया जाना बिल्कुल संभव नहीं है ।

हनीफा बेगम ने उत्तराखंड के रामनगर जनपद नैनीताल में जांच कराने की मांग उठाई तो जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने उन्हें भरोसा दिला कर वापस लौटा दिया । अधिवक्ताओं नरेंद्र सिंह, बार एसोसिएशन अध्यक्ष दिगपाल सिंह, सचिव बृजेंद्र सिंह, ठाकुर पुष्पराज, यासीन खान, सफदर अली खान, मनोज कुमार चौहान आदि ने जिलाधिकारी से शिकायत की कि अधिकांश मुकदमे तहसीलदार न्यायालय से अदम पैरवी में खारिज किए जा रहे हैं । जिलाधिकारी ने इसे लेकर तहसीलदार से नाराजगी जताते हुए कहा कि अविवादित मुकदमे किसी भी हालत में अदम पैरवी में खारिज नहीं होने चाहिए । करना वाला जब्ती के रोजगार सेवक मुकेश कुमार ने जिलाधिकारी के आदेश के बावजूद विकास विभाग के अधिकारियों द्वारा परेशान किए जाने की शिकायत की। कमालपुरी खालसा निवासी छात्र छात्राओं ने टेंपो चालकों की अधिक किराया वसूलने की शिकायत की । कुल 33 शिकायतें आई जिनमें से 4 का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया।
संवाद यामीन विकट