पशुपालन अवसंरचना फंड के तहत अच्छा कार्य करने हेतु उ0प्र0 को सम्मानित किया गया

 
pic

लखनऊ: 

भारत सरकार द्वारा पशुपालन अवसंरचना फंड में की गई प्रगति के लिए पशुपालन विभाग उत्तर प्रदेश को सम्मानित किया गया।
गुरूवार को पशुपालन अवसंरचना फंड पर कांक्लेव का आयोजन डॉक्टर भीमराव अंबेडकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र नई दिल्ली में किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता माननीय पुरुषोत्तम रूपाला, केंद्रीय मंत्री पशुपालन डेयरी एवं मत्स्य मंत्रालय भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा की गई। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण देश के पशुपालन अवसंरचना फंड से धनराशि प्राप्त करने वाले उद्यमियों ने प्रतिभाग किया। प्रगतिशील कृषक एवं राज्य पशुपालन विभाग के नोडल अधिकारी एवं निदेशक द्वारा प्रतिभाग किया गया।


पशुपालन अवसंरचना फंड के तहत अच्छा कार्य करने वाले प्रदेशों के प्रयास से उद्यमियों को जागरूक करने वाले प्रदेशों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, महाराष्ट्र को माननीय मंत्री पशुपालन डॉक्टर रुपाला द्वारा स्मृति चिन्ह तथा प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। उत्तर प्रदेश के योजना नोडल अधिकारी डॉ वी0के0 सिंह, एम0वी0एस0सी0, पी0एच0डी0 द्वारा कार्यक्रम में प्रतिभाग किया गया एवं माननीय मंत्री जी के द्वारा पुरस्कार प्राप्त किया गया। विचार विमर्श में भी डॉ सिंह ने प्रदेश का प्रस्तुतीकरण किया। प्रदेश के 9 उद्यमियों (यथा डेयरी प्रोसेसिंग, कुटकुट, पशु आहार तथा उत्तम प्रजनन) के आवेदन पत्र स्वीकृत किए गए थे।


एक दिवसीय कार्यक्रम में डॉक्टर संजीव बलियान, माननीय राज्यमंत्री पशुधन, भारत सरकार, सचिव पशुपालन अतुल चतुर्वेदी,  ओपी चौधरी संयुक्त सचिव मंत्रालय तथा नाबार्ड चेयरमैन, एसबीआई के अधिकारी तथा 500 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग किया। माननीय मंत्री जी द्वारा प्रदेश को उत्तरोतर प्रगति हेतु आशीर्वचन दिया गया।


यह जानकारी आज यहां डा0 वी0के0 सिंह नोडल अधिकारी ने दी। उन्होंने बताया कि इस सफलता के लिए माननीय मंत्री धर्मपाल सिंह, पशुधन डेयरी, उ0प्र0 तथा अपर मुख्य सचिव डॉ रजनीश दुबे जी, उ0प्र0 शासन द्वारा मार्ग दर्शन प्रदान किया गया, उनके सहयोग के बिना यह पुरस्कार मिलना संभव नहीं था। डा0 इन्द्रमनि, निदेशक, पशुपालन विभाग, उ0प्र0 का समय-समय का निर्देशन सफलता में अहम साबित हुआ।

From Around the web