मातृशक्ति के कृषि कौशल से संवर रहे हैं गांव और सुधर रहा है ग्रामीण जीवन : केशव मौर्य

 
pic

लखनऊः
उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य ने बताया की उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए संचालित की जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की कड़ी में महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना एवं  कृषि आजीविका योजना संचालित की जा रही है, इससे मातृशक्ति कृषि कार्यों मंे विशेष हुनर हासिल कर जहां अपने आर्थिक, सामाजिक व शैक्षिक स्तर को ऊंचा उठा रही हैं, वहीं अपने स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त कर रही हैं और अपनी खेती को भी बहुत ही अच्छी तरीके से करते हुये उत्पादन को भी बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रही हैं।


राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से प्राप्त जानकारी के अनुसार मिशन के तहत कृषि आजीविका एवं महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना के अन्तर्गत वर्ष 2017-18 से अब तक 22 जनपदों के 25 विकास खण्डों में महिला किसानो को सतत् कृषि पद्धतियों एवं गुणात्मक पशुपालन पर प्रशिक्षण दिया गया है। एक महिला किसान के साथ कम से कम 02 वर्षों तक कार्य कर क्षमता विकास किया जाता है।


महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना के अन्तर्गत अब तक 87500 के लक्ष्य के सापेक्ष कुल 107993 महिला किसानों को 22 जनपदों के 25 विकास खण्डों में प्रशिक्षित किया जा चुका है।
कृषि आजीविका के अंतर्गत 75 जनपदों अंतर्गत 476 विकास खण्डों में 8.8 लाख महिला किसान परिवारों को कृषि आजीविका संवर्धन गतिविधि अन्तर्गत अंगीकृत किया गया है। इन महिला किसान परिवारों को प्रेरणा पोषण वाटिका, गौ-आधारित खेती (कीट प्रबंधन, जैविक खाद-नीमास्त्र, ब्रह्मास्त्र, अग्नियास्त्र गोबर खाद, भू-नाफेड) इत्यादि गतिविधियां करायी जा रही है।
साथ ही पशुपालन, मुर्गी पालन, बकरी पालन, इत्यादि आजीविका गतिविधियां करायी जा रही हैं।

From Around the web