CMS संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने किया आधुनिक कक्षाओं का उद्घाटन

 
pic

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड कैम्पस द्वारा आज विद्यालय प्रांगण में ‘किड्स कार्निवाल एवं मेला’ का भव्य आयोजन किया गया। इस अवसर पर नन्हें-मुन्हें बच्चों की बहुमुखी प्रतिभा देख उनके माता-पिता, अभिभावक, दादा-दादी व नानी-नादी गद्गद् हो गये। छात्रों के ग्रैण्ड पैरेन्ट्स को इस अवसर पर विशेष रूप से आमन्त्रित किया गया था। इससे पहले, सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस में आधुनिकीकरण के उपरान्त तैयार ‘प्री-प्राइमरी एवं प्राइमरी कक्षाओं’ का फीता काटकर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में उपस्थित अभिभावकों ने कक्षाओं के आधुनिकीकरण व नवीनीकरण पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सी.एम.एस. प्रबन्धन को धन्यवाद दिया। समारोह में सी.एम.एस. संस्थापिका-निदेशिका डा. भारती गाँधी, सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन, सी.एम.एस. के चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफीसर  रोशन गाँधी, सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस की वरिष्ठ प्रधानाचार्या डा. विनीता कामरान एवं हेडमिस्ट्रेस  रिचा आहूजा समेत बड़ी संख्या में शिक्षकों, छात्रों व अभिभावकों ने गरिमापूर्ण उपस्थिति दर्ज करायी।


    इस अवसर पर अपने संबोधन में सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि प्री-प्राईमरी व प्राईमरी कक्षाओं के आधुनिकीकरण को नन्हें-मुन्हें छात्रों के सर्वांगीण विकास की दृष्टि से विशेष रूप से विकसित किया गया है। हमारा प्रयास है कि भावी पीढ़ी में इतना आत्मबल भरना है कि वे आने वाले कल की सभी चुनौतियों का सामना कर सकें। कार्निवाल के अन्तर्गत आयोजित विभिन्न रचनात्मक कार्यक्रमों में प्रतिभाग हेतु नन्हें-मुन्हें छात्रों का उत्साह देखते ही बनता था जिसके माध्यम से छात्रों की बहुमुखी प्रतिभा निखर कर सामने आयी। इस अवसर पर जहाँ एक ओर छात्रों ने शिक्षात्मक गतिविधियों में अपनी प्रतिभा का जोरदार प्रदर्शन कर सभी को आश्चर्यचकित कर दिया तो वहीं दूसरी ओर छात्रों के मनोरंजन के लिए विभिन्न प्रकार के झूले व मनोरंजक खेल आदि आयोजित किये गये। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी  हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस प्रकार के समारोह छात्रों में आत्मबल व उत्साह का संचार करने में बहुत महत्वपूर्ण हैं। सी.एम.एस. का मानना है कि शिक्षा मात्र किताबों तक ही सीमित नहीं है अपितु यह व्यक्तिगत जीवन और पूरे समाज, दोनों के लिए रचनात्मक बदलाव की भूमिका को तय करती है। 

From Around the web