भगवान बुद्ध के जन्म स्थली लुम्बिनी में 4095.05 लाख रूपये खर्च करके बुनियादी सुविधायें विकसित करायी गई : जयवीर सिंह

 
pic

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधाये उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पर्यटन विकास मंत्रालय भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना के बुद्धिष्ट सर्किट के अंतर्गत कपिलवस्तु के चौमुखी विकास के लिए 4095.05 लाख रूपये की लागत से ध्वनि एवं प्रकाश शो, बुद्धा थीम पार्क, मार्डन टायलेट फैसिलिटी, पार्किंग, सोलर लाईटिंग, साईनेज वेस्ट मैनेजमेंन्ट, सी0सी0टी0वी0, वाई फाई, हेलीपैड, टर्मिनल ब्लॉक, लास्टमाइल कनेक्टिविटी का कार्य पूरा कराया गया है। जिससे कपिलवस्तु आने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों और श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधायें प्राप्त हो रही हैं। इसके साथ ही स्थानीय लोगों को रोजगार के साधन उपलब्ध हो रहे हैं।


यह जानकारी पर्यटन मंत्री  जयवीर सिंह ने देते हुए बताया कि कपिलवस्तु उ0प्र0 के सिद्धार्थनगर जिले में स्थित है। महात्मा बुद्ध के जन्म स्थान लुम्बिनी से 10 किमी0 पर बौद्ध धर्म का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। गौतम बुद्ध के जीवन का प्रारम्भिक काल खण्ड यहीं व्यतीत हुआ। कपिलवस्तु शाक्य गण की राजधानी थी। यहॉ रहते हुए भगवान बुद्ध ने अनेक उपदेश दिये। विश्वविख्यात स्थल होने के कारण राज्य सरकार शैलानियों के लिए बुनियादी सुविधायें उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है।

From Around the web