सिंचाई विभाग के अभियंताओं का 15 वां आधारभूत प्रशिक्षण वाल्मी संस्थान में 2 जुलाई तक

 
Latest Update

लखनऊ:

      उ.प्र सरकार की प्रमुख प्राथमिकताओं, प्रतिबद्धताओं, संकल्पों को साकार करने एवं पारदर्शी जनोन्मुखी कार्यसंस्कृति को अधिकारियों के व्यवहार व कार्यों मे ढाल कर उनके दृष्टिकोण मे सकारात्मक परिवर्तन लाने के उद्देश्य से वाल्मी (वॉटर एण्ड लेण्ड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट) के निदेशक/मुख्य अभियंता  कृष्ण कुमार के मार्गदर्शन में 15वां  90 दिवसीय आधारभूत प्रशिक्षण 4 अप्रैल 2022 से 2 जुलाई 2022 तक संचालित किया जा रहा है। यह जानकारी देते हुए वाल्मी के पाठ्यक्रम निदेशक राजेश शुक्ला ने बताया कि इस प्रशिक्षण मे विभागीय तकनीकी व्यावहारिक जानकारी ,प्रशासनिक व वित्तीय प्रबंधन के साथ साथ अधिकारियों के बहुआयामी व्यक्तित्व विकास के गुर भी बताऐ जाऐगें ताकि अधिकारियों मे कुशल नेतृत्व क्षमता के साथ साथ  सहयोगी व सहकारी भावनाओं का भी विकास हो सके।


उन्होंने बताया कि पाठ्यक्रमों का नियोजन व संचालन साप्ताहिक क्रम मे किया जाता है। इसी परिपेक्ष मे आगामी सप्ताह के पाठ्यक्रम का विवरण प्रस्तुत करते हुए  शुक्ला ने बताया कि 20 जुलाई को अभियंताओं को वित्तीय अधिकार व परियोजनाओं का सृजन एवं प्रस्तुतिकरण, पाठ्यक्रम निदेशक द्वारा बताया जायेगा। तदक्रम में समूह चर्चा एसोसिएट प्रोफेसर वाल्मी ई.के. एन त्रिपाठी द्वारा कराई जायेगी ।


दिनांक 21 जून को कोर्स डाइरेक्टर ई.राजेश शुक्ला द्वारा ’इन्ट्रोडक्शन टू इरीगेशन मैंनूयल ओफ ऑर्डरस (आई. एम.ओ.) एण्ड मेन प्रोवीजनस आफ आई. एम.ओ.की विस्तृत जानकारी दी जायेगी। इसके पश्चात वाल्मी प्रोफेसर ई.जी सी.सिंह के निर्देशन मे विस्तृत समूह चर्चा होगी।


21, जुलाई 2022को ही प्रमुख अभियंता परिकल्प और नियोजन  एन.सी उपाध्याय द्वारा ’’इंटर लिंकिंग ऑफ वाटर. रिसोर्स सिस्टम और जी.आई. एस. व रिमोटसेन्सरिंग का परिचय एवं सिंचाई विभाग मे इसका उपयोग’’ विषय पर  विशेष व्याख्यान होगा। दिनांक 22 जून को  वी.के निरंजन पूर्व प्रमुख अभियंता/विभागाध्यक्ष द्वारा सेवागत अनुभव व आदर्श कार्यसंस्कृति पर चर्चा की जायेगी। इसी सत्र मे मीडिया से बेहतर सम्पर्क सूत्र स्थापित कर प्रगति प्रकाशन एवं सोशल मीडिया हेंडलिंग पर मीडिया परामर्शी द्वारा संवाद किया जायेगा।


22 जून 2022 को ही पाठ्यक्रम निदेशक के मार्गदर्शन में चिन्हित प्रशिक्षणार्थियों द्वारा ज्वलंत विषयों/मुद्दों पर विचार व्यक्त किए जायेंगे तथा उस पर चर्चा व जिज्ञासा निवारण प्रशिक्षणार्थियों की सहभागिता से किया जायेगा। प्रशिक्षणगत जिज्ञासाओं का  भी समाधान किया जायेगा।


इसके अलावा वाल्मी के प्रोफेसर ई.ए.के झा द्वारा वित्तीय कुशल प्रबंधन एवं अवस्थापना के विविध बिन्दुओं पर प्रकाश डाला जायेगा।
23जून को जल उपभोक्ता समितियों के साथ प्रशिक्षणार्थियों का संवाद सेतु कार्यक्रम, पाठ्यक्रम निदेशक द्वारा  संचालित किया जायेगा। जिसमे कम जल से अधिक फसल कैसे ली जाय इस पर विस्तृत चर्चा की जायेगी।
24जून को साप्ताहिक पाठ्यक्रम का पुनरीक्षण (रिव्यू) व ततविषयक चर्चा होगी। पाठ्यक्रम निदेशक के अनुसार 25-26 जून को साप्ताहिक अवकाश रहेगा।

From Around the web