अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे शासन की योजनाओं का लाभ: भानु प्रताप सिंह वर्मा

 
pic

राजनांदगांव :  सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम केन्द्रीय राज्य मंत्री भारत शासन  भानु प्रताप सिंह वर्मा जिला पंचायत सभाकक्ष में विभागीय योजनाओं के संबंध में समीक्षा बैठक ली। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम केन्द्रीय राज्य मंत्री भारत शासन  भानु प्रताप सिंह वर्मा ने निर्देशन एवं मार्गदर्शन देते हुए कहा कि शासन की योजना का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचना चाहिए। शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को क्रियान्वयन के लिए सभी को मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम के अंतर्गत छोटे-छोटे यूनिट लगाकर कार्य किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत हुनरमंद कारीगरों को ऋण प्रदान किया जा रहा है। जिससे कारीगरों को बहुत फायदा मिला है। उन्होंने कहा कि शासन जनता की भलाई के लिए कार्य कर रही है। जनसामान्य तक शासन की योजनाओं को पहुंचाने के लिए समन्वित तरीके से कार्य करने की जरूरत है। प्रदेश एवं देश के विकास के लिए सभी मिलकर कार्य करें। इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न योजनाओं के हितग्राही, महिला स्वसहायता समूह एवं स्वयं सेवी संस्थाओं के सदस्यों से शासन की योजनाओं के संबंध में चर्चा की। सांसद  संतोष पाण्डेय ने कहा कि शासन की लोककल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए सभी को मिलकर कार्य करना है और विकास कार्यों में सभी की सहभागिता होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी अपना योगदान दें।


कलेक्टर  तारन प्रकाश सिन्हा ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत जिले में आजादी से अंत्योदय के लिए जिले का चयन किया गया है। जिसके अंतर्गत लक्ष्य की प्राप्ति के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। जिले में 6 लाख 23 हजार श्रमिक मनरेगा के अंतर्गत पंजीकृत है। राजनांदगांव जिले में प्रदेशभर में सर्वाधिक रोजगार श्रमिकों को दिया गया है। 55 हजार 78 परिवारों को 100 दिन का रोजगार प्रदान किया गया है। इसमें महिला श्रमिकों की भी महत्वपूर्ण भागीदारी रही है। 61 प्रतिशत महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में 76 अमृत सरोवर बनाने का लक्ष्य मिला है। 15 अगस्त को वहां ध्वजारोहण किया जाएगा। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय  ठाकुर प्यारेलाल सिंह के ग्राम में भी अमृत सरोवर का निर्माण किया जा रहा है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 3 लाख 984 किसानों को भुगतान किया जा चुका है। जो लगभग 80 प्रतिशत है। वहीं 43 हजार 248 किसानों का आंशिक भुगतान किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले के महिला स्वसहायता समूह ने प्रदेश में सर्वाधिक ऋण लिया है और लगातार अच्छा कार्य कर रही है। 412 ग्राम पंचायतों में 147 बैंक सखी हैं जो करोड़ों रूपए के बैंक ट्रांजेक्शन का कार्य करते हुए वित्तीय सेवाएं प्रदान कर रही हैं। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत 4 हजार 11 हितग्राही लाभान्वित हुए हैं तथा 25 करोड़ 9 लाख रूपए की राशि इस योजना के तहत स्वीकृत की गई। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत शहरी क्षेत्रों में 911 व्यक्तियों को ऋण प्रदान किया गया है। जिसमें शहरी क्षेत्रों में ऋण से लोगों ने व्यवसाय प्रारंभ किया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत 3 लाख 50 हजार 289 व्यक्ति लाभान्वित हो रहे हैं। जिले में मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के अंतर्गत महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे हैं तथा बच्चों को अतिरिक्त सुपोषण आहार दिया जा रहा है। जिससे 90 प्रतिशत कुपोषित बच्चों के वजन में वृद्धि हुई है। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदन योजना के अंतर्गत 50 हजार 432 हितग्राही लाभान्वित हुए हैं तथा शत प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति हुई है।


कलेक्टर  सिन्हा ने कृषि क्षेत्र में की गई पहल के बारे में बताते हुए कहा कि राज्य शासन के राजीव गांधी किसान न्याय योजना से प्रेरित होकर 27 हजार 304 किसानों ने धान के बदले वैकल्पिक फसलों को अपनाया है। उतेरा फसल को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में महत्वपूर्ण कार्य किए गए हैं। जल जीवन मिशन के अंतर्गत 2 लाख 93 हजार 523 परिवारों को नल कनेक्शन की सुविधा देने का कार्य किया जा रहा है। स्कूल एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल कनेक्शन के माध्यम से शत प्रतिशत पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत 1 लाख 51 हजार 110 व्यक्ति लाभान्वित हुए हैं और उन्हें अच्छे स्वास्थ्य के लिए 131 करोड़ रूपए की राशि प्रदान की गई है। आयुष्मान भारत हेल्थ एवं वेलनेश सेंटर के माध्यम सेे जनसामान्य को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमण की महामारी में जन प्रतिनिधियों की मदद से जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए लगातार कार्य किए गए। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत जिले के दूरस्थ अंचलों सहित सभी ग्राम बारहमासी सड़कों से शीघ्र ही जुड़ जाएंगे। स्वास्थ्य एवं पोषण के क्षेत्र में जिले की अच्छी उपलब्धियां रही है। वहीं डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड बनाने में जिले में पूरे देश में 3 स्थान प्राप्त किया है। दूरस्थ अंचल मानपुर में हमर लैब के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रही है। जहां 100 प्रकार की नि:शुल्क पैथोलॉजी टेस्ट का फायदा जनसामान्य को मिल रहा है। राजनांदगांव में भी हमर लैब की सुविधा प्रारंभ की गई है। नीति आयोग के सहयोग से 80 मॉडल आंगनबाड़ी केन्द्र बनाए जा रहे हैं।  इस अवसर पर विधायक खैरागढ़ यशोदा वर्मा, महापौर हेमा देशमुख, जिला पंचातय उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह, जिला पंचायत सीईओ  लोकेश चंद्राकर, अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ  दिलीप कुर्रे सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

From Around the web