अक्षय तृतीया के दिन जिले के सभी गौठानों में माटी की पूजा-अर्चना कर धूमधाम और उत्साह से मनाया गया अक्ति पर्व

 
pic

राजनांदगांव : अक्षय तृतीया के दिन माटी पूजन दिवस के अवसर पर जिले के सभी गौठानों में माटी की पूजा-अर्चना कर धूमधाम से अक्ति पर्व उत्साह के साथ मनाया गया। माटी पूजन दिवस के अवसर पर ग्राम सरखेड़ा में संसदीय सचिव  इंद्र शाह मंडावी एवं छत्तीसगढ़ राज्य अन्य पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष दलेश्वर साहू ने डोंगरगांव में माटी की पूजा अर्चना की। संसदीय सचिव इंद्रशाह मंडावी ने अपने उद्बोधन मंश कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल माटी पुत्र हैं और स्वयं किसान हैं। शासन किसान हितैषी है और लगातार किसानों के हित में कार्य कर रही है। उन्होंने मानपुर- मोहला-चौकी जिला की सौगात दी है, वहीं औंधी को तहसील के दर्जा दिया है। मुख्यमंत्री ने औंधी में कॉलेज भवन की भी सौगात दी है। शासन की नरवा, घुरवा, गरूवा, बाड़ी योजना ग्रामीण क्षेत्रों के लिए बहुत उपयोगी साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि जैविक खाद से मिट्टी की उर्वरा शक्ति बढ़ेगी। प्रदेश की जनता के अच्छे स्वास्थ्य के लिए जैविक उत्पादों को बढ़ावा देने की जरूरत है। गढ़बो नया छत्तीसगढ़ की दिशा में हमें आगे बढऩा है।


जिले के सभी गौठानों में ग्रामवासियों ने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया गया और मिट्टी की रक्षा करने की शपथ ली। अपने खेत, बगीचों और घरों में जैविक खाद का उपयोग करने का संकल्प लिया। सभी ने कहा कि हम ऐसा कोई काम नहीं करेंगे जिससे हमारी मिट्टी, पानी की सेहत खराब हो। हम हानिकारक रसायनों के कारण भूमि, जल को होने वाले, नुकसान के प्रति सबको सचेत कर पर्यावरण की रक्षा करेंगे। हम आने वाली पीढिय़ों के लिए साफ पानी, शुद्ध हवा और उपजाऊ मिट्टी बचाएंगे। इस अवसर पर लोगों ने ली रासायनिक खाद के स्थान पर वर्मी खाद का प्रयोग करने की शपथ ली। सरखेड़ा में कृषि में जैव उर्वरक का प्रयोग करने वाले कई किसानों को विधायक ने सम्मानित किया। गोठान में जैव खाद के अत्यधिक उत्पादन के लिए महिला स्वसहायता समूह को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जनप्रतिनिधि, जनपद सीईओ मांडले एवं नागरिक उपस्थित थे।

From Around the web