समर कैम्प में 100 से अधिक बच्चों ने उत्साहपूर्वक लिया भाग

 
pic

कोण्डागांव :  गुरूवार को प्री मैट्रिक बालक छात्रावास में 05 से 24 मई तक कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन एवं शिक्षा विभाग के संयुक्त प्रयास से आयोजित किये जा रहे समर कैम्प का शुभारंभ हुआ। जिसमें सर्वप्रथम बच्चों को कैम्प में आयोजित होने वाली गतिविधियों के संबंध में जानकारी देते हुए बच्चों का सभी कलाओं से परिचय कराया गया साथ ही बच्चों को अपनी-अपनी रूचि अनुसार 02 गतिविधियों का चयन कर उसमें भाग लेने हेतु प्रेरित किया गया। इस कैम्प में बच्चों में उत्साह एवं बड़ी संख्या में आवेदनों को देखते हुए गतिविधियों को दो स्थलों पर आयोजित किया जा रहा है। जिसमें 06-06 गतिविधियों को प्री मैट्रिक बालक छात्रावास एवं शिल्पनगरी चिखलपुटी में आयोजित किये जा रहे हैं।


इस कैम्प में 100 से अधिक बच्चे हिस्सा ले रहे हैं। जिनमें से प्री मैट्रिक बालक छात्रावास में शास्त्रीय नृत्य, तबला वादन, मॉडर्न डांस, गिटार, हारमोनियम तथा जनजातिय संगीत में 60 बच्चे भाग ले रहे हैं। जबकि शिल्पनगरी में भित्ती चित्र कला, चित्रकला, कढ़ाई कला, जूट शिल्प, माटी शिल्प, तुमा शिल्प में 40 से अधिक बच्चे भाग ले रहे हैं। इस कैम्प में प्रातः 8.30 से 10.00 बजे तक प्रथम गतिविधि तथा 15 मिनट के विश्राम के बाद 10.15 से 12.00 बजे तक द्वितीय गतिविधि संचालित की जायेगी। प्रथम दिन जहां बच्चों ने जमकर तुमा शिल्प, कढ़ाई-बुनाई, माटी शिल्प, चित्रकला, डांस एवं शास्त्रीय नृत्य का आनंद लिया। इस कैम्प में बच्चों का उत्साह देखते ही बनता है। कैम्प के प्रति बच्चों एवं उनके अभिभावकों में उत्साह को देखते हुए रजिस्ट्रेशन को जारी रखा गया है ताकि अधिक से अधिक संख्या में बच्चे इस समर कैम्प का लाभ उठा सकें। इस कैम्प हेतु सभी आवश्यक संगीत उपकरण एवं चित्रकला सामग्रियां जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई गई है।

एबाकस एवं फास्ट केलकुलेशन हेतु सायं 4.00 से 6.00 होंगी कक्षाएं
शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों को गर्मी की छूट्टियों में तीव्र गणना हेतु प्रशिक्षण देने के लिए एबाकस एवं फास्ट केलकुलेशन की कक्षाओं का आयोजन शासकीय बालक हाई स्कूल कोण्डागांव में आयोजित की जा रही है। इसके प्रति अभिभावकों का रूझान देखते हुए प्रातः काल में समर कैम्प की गतिविधियों से अलग इसका आयोजन सायं 4.00 से 6.00 बजे तक किया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक बच्चे इसका लाभ ले सकें। इस हेतु एक कक्षा में 40 विद्यार्थियों को ही प्रवेश दिया जायेगा। जिसके लिए रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है।

From Around the web