स्वास्थ्य योजनाएं बेहतर तरीके से संचालित करने पर मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने दिया ज़ोर

 
pic

धमतरी : प्रदेश के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए सबसे पहले ज़िले के स्वास्थ्य और पंचायत विभाग के अमले को कोरोना काल में बेहतर तरीके से स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए उनकी सराहना की। उन्होंने ज़िला पंचायत सभाकक्ष में दोपहर 12 बजे से आहूत बैठक में स्वास्थ्य अमले को आमजनों की सहूलियत को ध्यान में रख शासन द्वारा संचालित विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं का बेहतर से बेहतर तरीके से संचालन के निर्देश दिए हैं।


मंत्री  सिंहदेव ने स्वास्थ्य केंद्रों में मानव संसाधन की उपलब्धता की जानकारी लेते हुए सुनिश्चित करने कहा कि कहीं भी अतिशेष स्टाफ का अटैचमेंट ना रहे। इसके साथ ही अधोसंरचना और दवाइयों की उपलब्धता की जानकारी लेते हुए निर्देशित किया कि सभी स्वास्थ्य केंद्रों, मितानिन दवा पेटी और ज़िला औषधि भंडार में आवश्यक दवाईयां बनी रहे। कोविड टीकाकरण में पहले डोज में 101 प्रतिशत उपलब्धि के मद्देनजर स्वास्थ्य मंत्री  सिंहदेव ने दूसरा डोज भी शत प्रतिशत पात्र लोगों को लगाने के निर्देश दिए। बताया गया कि अभी 12 से 14 साल की आयु के 38 हजार 995 में से 23 हजार 910 बच्चों को पहला डोज लगाया जा चुका है। साथ ही इस उम्र के 3017 बच्चों को दूसरा डोज भी लग चुका है। स्वास्थ्य मंत्री ने इसे और बढ़ाने पर भी उन्होंने जोर दिया। स्वास्थ्य मंत्री ने आयुष्मान भारत/डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य योजना में कार्ड बनाए जाने की समीक्षा करते हुए ज़िले की उपलब्धि 74.7 प्रतिशत को सराहा। इसे और बढ़ाने पर भी ज़ोर दिया। उन्होंने ज़िले में 102 और 108 वाहन की उपलब्धता और रिस्पॉन्स टाइम की समीक्षा करते हुए स्वास्थ्य अमले को सुनिश्चित करने कहा कि जरूरतमंद मरीजों को इसका समय पर लाभ मिले। साथ ही गर्भवती महिलाओं की गर्भधारण से प्रसव होने तक चरणबद्ध तरीके से मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए ताकि समय पर एएनसी जांच और जरूरी दवाईयां/इलाज मिल सके। साथ ही जटिल प्रकरणों में ड्यू डेट से पहले गर्भवती महिला को अस्पताल बुला लेने पर जोर दिया, जिससे कि प्रसव में दिक्कत ना हो। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने हमर लैब, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक, मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना की समीक्षा करते हुए शासन की मंशा के अनुरूप हितग्राहियों को उनके निकट रहवास में स्वास्थ्य लाभ उपलब्ध कराना सुनिश्चित करने सभी व्यवस्था करने के निर्देश दिए।


मनरेगा के तहत 15 हजार को 100 दिवस और 18 सौ को मिला 150 दिन का रोजगार-
पंचायत विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  प्रियंका महोबिया ने बताया कि वर्ष 2021-22 में जिले में मनरेगा के तहत कुल एक लाख 59 हजार 444 जॉब कार्डधारी परिवार हैं। वार्षिक मानव दिवस के लिए निर्धारित लक्ष्य 67.37 लाख के विरूद्ध 68.62 लाख मानव दिवस सृजित हुआ है, जो कि लक्ष्य के विरूद्ध 101.85 प्रतिशत है। यानी एक लाख 39 हजार 197 परिवार इससे लाभान्वित हुए जो कुल पंजीकृत श्रमिकों का 96.80 प्रतिशत है। यह भी बताया गया कि 2021-22 में 100 दिवस से अधिक रोजगार प्रदाय करने के 18 हजार 435 परिवार के लक्ष्य के विरूद्ध 15 हजार 54 परिवारों को रोजगार मिला। इसी तरह 1803 ऐसे श्रमिक परिवार हैं जिन्होंने 150 दिवस का पूर्ण रोजगार प्राप्त किया। जिले में नरवा विकास की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि योजना के तहत अब तक कुल 46 नरवा के 518 स्वीकृत कार्यों में से 216 कार्य पूर्ण हो चुके हैं। राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन का जिले में क्रियान्वयन की जानकारी देते हुए बताया गया कि अब तक स्वसहायता समूह के गठन के 3 हजार 314 के लक्ष्य के विरूद्ध 4 हजार 467 समूह गठित किए जा चुके हैं जो निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध 135 प्रतिशत है। यह भी बताया गया कि बिहान योजना के अन्तर्गत जिले में 8 हजार 554 स्वसहायता समूह गठित किए गए हैं जिनसे 94 हजार 502 परिवार जुड़कर आजीविका गतिविधियां संचालित कर रहे हैं। इसके अलावा पंचायत मंत्री ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण), पंचायत विभाग के तहत 14 वें एवं 15 वें वित्त आयोग के अंतर्गत पंचायत स्तर पर प्राप्त आबंटन तथा व्यय, जिला पंचायत विकास निधि के तहत स्वीकृत कार्यों की समीक्षा की। साथ ही मुख्यमंत्री समग्र ग्रामीण विकास योजना, राज्य ग्रामीण एवं अन्य पिछड़ा वर्ग क्षेत्र विकास प्राधिकरण, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा तथा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत किए गए कार्यों की समीक्षा आज की बैठक में की गई।


इस अवसर पर विधायक धमतरी  रंजना साहू, ज़िला पंचायत अध्यक्ष  कांति सोनवानी, उपाध्यक्ष  निशु चंद्राकर, सदस्य गोविंद साहू, निगम के सभापति  अनुराग मसीह, पूर्व धमतरी विधायक गुरुमुख सिंह होरा, पूर्व जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मीकांता साहू, आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएं डॉ.सी.आर. प्रसन्ना, संचालक पंचायत कार्तिकेय गोयल सहित स्वास्थ्य और पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग से जुड़े ज़िले के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।        

From Around the web