भेंट-मुलाकात: मुख्यमंत्री ने की बरियों में सौगातों की बरसात

 
pic

रायपुर :  मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के भेंट-मुलाकात अभियान के पहले दिन सामरी विधानसभा क्षेत्र के कुसमी और शंकरगढ़ के बाद तीसरे व अंतिम पड़ाव बरियों रहा। जहां उन्होंने मंडी परिसर में आमजनता से रू-ब-रू हुए और जनकल्याणकारी कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के साथ ही लोगों की समस्याओं के बारे में जानकारी ली और निराकरण के निर्देश अधिकारियों को दिए। मुख्यमंत्री  बघेल ने इस दौरान ग्रामीणों के मांग पर अनेक विकास कार्यों की सौगात दी। 

मुख्यमंत्री बघेल ने यहां जन समुदाय से चर्चा करते हुए बरियों में एक विद्युत सब-स्टेशन, पंजीयन कार्यालय और मंगल भवन सहित औद्योगिक पार्क के निर्माण की घोषणा की। उन्होंने ग्रामीणों की मांग पर त्वरित पहल करते हुए हायर सेकेण्डरी स्कूल खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने इस दौरान बरियों तक सुगम आवागमन सुविधा के लिए 5 किलोमीटर सड़क मार्ग के निर्माण की घोषणा करते हुए पूर्व से स्वीकृत सूरजपुर-कल्याणपुर सड़क निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण कराने के लिए ग्रामीणों को आश्वस्त किया। मुख्यमंत्री बघेल ने शिवमंदिर तालाब का सौदर्यीकरण, पार्क और मिनी स्टेडियम निर्माण, आरा में धान खरीदी केन्द्र और भिलाईखुर्द में गौठान प्रारंभ करने की घोषणा की। उन्होंने इस दौरान गांवों में एक-एक देवगुड़ी के निर्माण के लिए क्षेत्रीय विधायक को प्रस्ताव देने के लिए कहा। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि गांव में एक देवगुड़ी के निर्माण के लिए 5 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की जाती है। मुख्यमंत्री ने बरियों में नए तहसील कार्यालय भवन के निर्माण और पहाड़ी कोरबा गांव तक 20 किलोमीटर सड़क निर्माण की मंजूरी प्रदान की। 

मुख्यमंत्री ने तिलक लगाकर नर्सिंग स्टॉफ का किया स्वागत

मुख्यमंत्री ने बरियों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में पोषण पुनर्वास केन्द्र का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां इलाज कराने आये मरीज़ों से बात कर हाल पूछा।  बघेल ने अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओ की जानकारी ली। उन्होंने डॉक्टरों से लेकर नर्सों और अन्य स्टाफ से भी बात की और लोगो को बेहतर इलाज की सुविधा देने के निर्देश दिए। उन्होंने पर्याप्त मात्रा में दवाई और अन्य उपकरण आदि भी अस्पताल में उपलब्ध रखने को कहा। मुख्यमंत्री ने भीषण गर्मी को देखते हुए लू से बीमार मरीज़ों का तत्काल इलाज करने सभी इंतज़ाम और दवाई, ग्लूकोस आदि की व्यवस्था भी पहले से ही करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बरियों द्वारा लोगों को दी जारी बेहतर सुविधाओं के लिए स्वास्थ्य केन्द्र स्टॉफ का तिलक लगाकर स्वागत किया।

नव प्रसूता को दी बधाई
 मुख्यमंत्री ने डॉक्टरों को ब्रांडेड दवाईयां नही लिखने और केवल जेनेरिक दवाई ही लिखने के निर्देश दिये। यहाँ उन्होंने वार्ड में भर्ती बाघा निवासी नव प्रसूता  अनिता को पुत्र रत्न की प्राप्ति पर बधाई दी। मुख्यमंत्री ने नव निहाल को गोद मे ले दुलार किया और आशीर्वाद दिया।  बघेल में नव प्रसूता को जननी सुरक्षा योजना के तहत निर्धारित राशि का चेक,बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र और डॉ.खूबचंद बघेल स्वास्थ्य योजना का बीमा कार्ड भी प्रदान किया।

बच्चों ने सुनाया राजगीत
स्वामी आत्मा नंद इंग्लिश मीडियम स्कूल राजपुर के विद्यार्थियों ने राज गीत गाया। इस दौरान गायत्री महिला स्व सहायता समूह, माहेश्वरी महिला स्व सहायता समूह, लक्ष्मी स्व सहायता समूह, रोशनी स्व सहायता समूह की सदस्यों ने बताया कि वे सरसों तेल, एलईडी बल्ब, कपूर से लेकर वर्मी खाद तक बना रही हैं। गोबर खरीदी से उन जैसी कई महिलाओं को रोजगार मिला है। समूह की सदस्यों ने गांव में ही आय का अतिरिक्त साधन उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री की सोच को विकास का आधार बताया और सरकार की योजना की तारीफ की।

लोगों ने सरकार के कार्यक्रमों को सराहा 

भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में किसान उदयराम, मनीजर, मोहन,और लाला ने खेती किसानी को बढ़ाने और किसानों को फायदा पहुचाने वाली योजनायें लागू करने के लिए भी मुख्यमंत्री बघेल को धन्यवाद दिया। युवाओं को आगे बढ़ाने, नेतृत्व क्षमता को निखारने और युवाओं की विकास में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये राजीव गांधी युवा मितान क्लब बनाने के लिए भी बरियों तथा अमडीपारा के युवाओं ने मुख्यमंत्री की सराहना की। भूमिहीन किसानो के लिए हर साल आर्थिक सहायता देने की भूमिहीन किसान कृषि मजदूर न्याय योजना के लिये भी रेगहा और अधिया में खेती कर रहे भूमिहीन किसानों ने मुख्यमंत्री का आभार जताया।

सेल्फी लेने की लगी होड़

भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के पहुंचने पर उनके साथ लोगों की सेल्फी लेने की होड़ लगी थी। किसान, मजूदर, युवा और बच्चों ने मुख्यमंत्री के साथ उत्साह के साथ सेल्फी ली। मुख्यमंत्री ने भी बच्चों और युवाओं का उत्साहवर्धन किया।

न्याय योजना में जुड़ा अनिता गुप्ता का नाम
मुख्यमंत्री  बघेल बरियों स्वास्थ्य केन्द्र इलाज करा रहे दिनेश गुप्ता से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली और डॉक्टरों को बेहतर इलाज के निर्देश दिए।  दिनेश गुप्ता की पत्नी अनिता गुप्ता ने बताया कि वे पास ही के गांव बघिमा में रहती हैं। उनके पास जमीन, खेत नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को तत्काल उनका पंजीयन भूमिहीन कृषि मजूदर न्याय योजना में करने और 7000 रूपए सालाना की सहायता देने के लिए कार्यवाही करने के निर्देश दिए।


मुख्यमंत्री बघेल ने मालती तिवारी के अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरण का परीक्षण कर उन्हें नियुक्ति प्रदान करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान मालती तिवारी ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनके पति शिक्षाकर्मी थे और उनका संविलयन आदेश हो गया था। उनकी मृत्यु पश्चात अब उन्हें अनुकम्पा नियुक्ति नहीं मिली है।

From Around the web