आगामी समय में धान और गोबर दोनों की खरीदी मूल्य में होगी वृद्धि : कृषि मंत्री चौबे

 
pic

मुंगेली :  प्रदेश के संसदीय कार्य, कृषि विकास एवं किसान कल्याण तथा जैव प्रौद्योगिकी, पशुधन विकास, मछली पालन, जल संसाधन एवं आयाकट मंत्री रविन्द्र चौबे ने आज विधि-विधान के साथ मुंगेली विकासखण्ड के ग्राम लिम्हा में रोजगार प्राप्त करने की सबसे बड़ी साधन नवीन गौठान का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर उन्होंने नवीन गौठान के लिए ग्रामवासियों और किसानों को अपनी बधाई दी और गौठान भूमिपूजन कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि राज्य शासन की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के अंतर्गत ग्राम लिम्हा में गौठान का निर्माण किया गया है। गौठान में अब पशुपालकों से गोबर की खरीदी की जाएगी। गौठान निर्मित होने के उपरांत शीघ्र ही यहां आजीविकामूलक गतिविधियों का भी संचालन किया जाएगा। इससे ग्राम स्तर पर रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। ग्रामीणों को रोजगार मिलेगा। इस अवसर पर उन्होंने गौठान में गोबर से वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण सहित पशुओं के लिए शेड, पानी, चारागाह आदि विकसित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना, भूमिहीन मजदूरों के लिए ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना और पशुपालकों के लिए गोधन न्याय योजना का संचालन किया जा रहा है।  उन्होंने कहा कि हमारी सरकार द्वारा किसानों से धान की खरीदी 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से की जा रही है। इसी तरह 02 रूपया प्रति किलो की दर से गोबर की खरीदी की जा रही है। उन्होंने कहा कि आगामी समय में धान और गोबर दोनों की खरीदी मूल्य में वृद्धि की जाएगी। इसी तरह ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत उनके हित को देखते हुए प्रतिवर्ष दी जा रही आर्थिक सहायता राशि 06 हजार को बढ़ाकर अब 07 हजार रूपए कर दी गई है। इस अवसर उन्होंने ग्राम लिम्हा में गौठान के निर्माण व गांव के हित में कोटवार द्वारा अपनी कोटवारी सेवा जमीन को छोड़ने के निर्णय की सराहना की। इस अवसर में उन्होंने प्रगतिशील कृषक आनंद मिश्रा, श्रीकांत गोवर्धन, हिमांशु मिश्रा,  स्वर्ण सिंह छाबड़ा को सम्मानित किया। इसी तरह उन्होंने 50 प्रतिशत अनुदान पर ग्राम पथरगढ़ी के कृषक  प्यारेलाल लोधी को ट्रेक्टर तथा ग्राम कोसमतरा के कृषक हेमंत कुमार कश्यप को फार्म मशीनरी (टेक्टर, थ्रेसर एवं अन्य उपकरण) का चाबी प्रदान कर उनका उत्साहवर्धन किया। इसी क्रम में अन्य कृषकों को भी विभिन्न योजनाओं के तहत कृषि यंत्र और अनुदान राशि का चेक प्रदान किया।

कार्यक्रम को कलेक्टर डा. गौरव कुमार सिंह ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हर्ष का विषय है कि जिले के ग्राम लिम्हा में राज्य शासन की महत्वाकांक्षी गरूवा, नरवा,घुरूवा, बाड़ी योजना का प्रथम घटक गौठान फलीभूत हो रहा है। अब इस गौठान को मल्टीएक्टिीविटी सेंटर के रूप में संचालित किया जाएगा। जिसे प्रदेश में आदर्श गौठान के रूप में जाना जाएगा। इस अवसर पर शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष राम कुमार पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष  लेखनी सोनू चन्द्राकर, नगर पालिका अध्यक्ष  हेमेन्द्र गोस्वामी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष  संजीत बनर्जी, जिला पंचायत सदस्य  वशी उल्लाह खान, पूर्व विधायक  चुरावन मंगेश्कर, छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति प्राधिकरण के सदस्य  रत्नावली कौशल, कृषि उत्पादन आयुक्त एवं सचिव डा. कमलप्रीत सिंह, विशेष सचिव कृषि अयाज फकीर भाई तम्बोली, पुलिस अधीक्षक चन्द्रमोहन सिंह, संचालक कृषि  यशवंत कुमार, उद्यानिकी विभाग के संचालक  मातेश्वरम, मत्स्य विभाग के संचालक नारायण सिंह, पशुपालन विभाग के संचालक  संजय चंदन त्रिपाठी, कृषि विभाग के उपसचिव  तुलिका प्रजापति, प्रतिष्ठित नागरिक आशिष सिंह ठाकुर, सागर सिंह बैस,  राकेश पात्रे,  आत्मा सिंह क्षत्रिय, जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता  अजय सोमावार, अधीक्षण अभियंता  पी. आनंद, वनमण्डलाधिकारी गणेश राजन, अपर कलेक्टर तीर्थराज अग्रवाल सहित विभागीय अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीण और कृषकगण मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन जिला कलेक्टोरेट के अधीक्षक अशोक सोनी ने किया। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  डी. एस. राजपूत ने आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया।

From Around the web