मल्टी एक्टिविटी संचालित हो ऐसी जगहों पर बनाये वन गौठान: कलेक्टर भीम सिंह

 
pic

रायगढ़ :  कलेक्टर  भीम सिंह ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक ली। कलेक्टर सिंह ने डीएफओ को निर्देशित किया कि गोधन न्याय योजना के लिए चयनित वन गोठानों के लिए स्थान चयन पर विशेष ध्यान दिया जाए। जिससे उन गोठानों में मल्टी एक्टिविटी संचालित किया जा सके। इस दौरान उन्होंने इन गोठानों में पर्याप्त शेड, वर्मी पिट एवं पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने मूलभूत सुविधाओं के संबंध में विभागीय अधिकारियों को चयनित गोठानों के निरीक्षण के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गौठानों में गोधन न्याय योजना के तहत एप के माध्यम से खरीदी किया जाए। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ  अबिनाश मिश्रा उपस्थित रहे।


  कलेक्टर  सिंह ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए गौठानों के वर्मी कम्पोस्ट निर्माण में गुणवत्ता तथा मात्रा का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने पूर्व सैंपल की रिपोर्ट की जानकारी लेते हुए अधिकारियों को नियमित रूप से कम्पोस्ट सैम्पल की जांच करवाने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने डीडीए को परीक्षण लैब की कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। जिससे गुणवत्ता की स्थानीय स्तर पर नियमित जांच की जा सके। कलेक्टर सिंह ने गोधन न्याय में खरीदी बढ़ाने के निर्देश विभागीय अधिकारी को दिए। कलेक्टर  ङ्क्षसह ने कहा कि धान के बदले अन्य फसलों के बीज की पर्याप्त उपलब्धता एवं किसानों को इसकी जानकारी प्रदान कर उठाव के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने गोठानों में पशु चिकित्सा व नियमित जांच शिविर लगाने के निर्देश दिए। कलेक्टर सिंह ने महिला समूहों तथा कम्पोस्ट उठाव के भुगतान के बारे में जानकारी लेते हुए नियमित भुगतान भुगतान के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होने स्व-सहायता समूह के उत्पादको की लिंकेज व ब्रिकी की मॉनिटरिग करनें को कहा।  कलेक्टर सिंह ने लोक सेवा गारंटी के तहत प्रदान की जा रही सेवाओं की जानकारी लेते हुए प्राप्त प्रकरणों का समय-सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने समय-सीमा की बैठक में जन समस्या निवारण शिविर के तहत प्राप्त आवेदनों तथा उनके निराकरण के बारे में विभागवार समीक्षा की। उन्होंने मांग तथा समस्याओं के बारे में विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने कहा कि आवेदन पर की गयी कार्यवाही से आवेदक को लिखित रूप में सूचित कर अवगत करायें। उन्होने सभी जनपद सीईओ को पेंशन एवं परिवार सहायता के प्रकरणों के आवेदनों का प्राथमिकता से निराकरण करने के निर्देश दिए।  


कलेक्टर  सिंह ने मितान योजना के बारे में चर्चा करते हुए लाभ लेने वाले हितग्राहियों को जरूरी दस्तावेज के बारे में पूर्व सूचना देकर तथा आवश्यक दस्तावेज लेते हुए समय-सीमा में उन्हें सर्टिफिकेट बना कर देने के निर्देश दिए। कलेक्टर  सिंह ने राजीव युवा मितान क्लब के गठन हेतु प्राप्त नामों का वेरीफिकेशन पूर्ण कर राजीव युवा मितान क्लब का बैंक में खाता खुलवाने के निर्देश दिए। कलेक्टर  सिंह ने गत दिवस आयोजित रक्तदान दाता दिवस की जानकारी लेते हुए, जिले में वृहत स्तर पर ब्लड डोनेशन कैम्प का आयोजन करने के निर्देश दिए। उन्होंने धन्वतरी मेडिकल स्टोर में प्रति सप्ताह की दवाईयों की ब्रिकी की समीक्षा की। उन्होंने सीएमएचओ को निर्देश दिया कि डॉक्टरों द्वारा जेनेरिक दवाईयॉ लिखा जाए। शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की समीक्षा करते हुए लैब टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए। खाद्य विभाग की समीक्षा करते हुए समय निर्धारित कर कैंप के माध्यम से राशन कार्ड बनाने में तेजी लाने के निर्देश दिए। रेशम विभाग की कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने उप संचालक रेशम से कहा कि कार्यरत समूह के आय बढ़ाने की दिशा में कार्य किया जाए एवं मनरेगा के माध्यम से मलबरी प्लांटेशन का कार्य भी पूर्ण करें। कलेक्टर  सिंह ने मछली पालन विभाग की समीक्षा करते हुए, संबंधित अधिकारी को गोठानों में नियमित मॉनिटिरिंग एवं पीएचई को पानी के व्यवस्था के निर्देश दिए।


  बैठक में कलेक्टर  सिंह ने राजस्व प्रकरणों की तहसीलवार निराकरण की समीक्षा की। उन्होंने अविवादित नामांतरण, बंटवारा के प्रकरणों का जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर  सिंह ने गांवों में आयोजित होने वाले ग्राम सभा शिविर में शासन की विभिन्न योजनाओं की जानकारी के साथ जनसमस्या निवारण शिविर में प्राप्त आवेदनों पर की गयी कार्यवाही का वाचन करने के निर्देश दिये। कलेक्टर  सिंह ने कहा कि ग्राम सभा में पंचायत स्तर पर वनाधिकार पत्र से संबधित जानकारी देने के साथ वनधिकार से लाभान्वितों की संख्या की जानकारी भी ग्रामीणों को दी जाए।


       बैठक में आयुक्त नगर निगम  संबित मिश्रा, डीएफओ रायगढ़ स्टायलो मंडावी, डीएफओ धरमजयगढ़ अभिषेक जोगावत, अपर कलेक्टर आर.ए.कुरूवंशी सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

From Around the web