पीड़ित को न्याय मिलने तक चैन से न बैठे, योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों तक पहुचाएं: प्रभारी सचिव देवांगन

 
pic

जांजगीर.चांपा : जिले के प्रभारी सचिव  धनंजय देवांगन ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर कामकाज की समीक्षा की। बैठक में उन्होंने सभी अनुविभागीय अधिकारियों (राजस्व), जनपद सीईओ, तहसीलदारों और जिला स्तरीय अधिकारियों को फील्ड में दौरा करने के साथ शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने कहा कि प्रकरण पर कार्यवाही ही पर्याप्त नहीं है, पीड़ित को न्याय दिलाना और पात्र व्यक्ति तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुचाना हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने जिले में आमनागरिकों की समस्याओं को सुलझाने के लिए कलेक्टर द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि कोई भी पात्र और पीड़ित वंचित न हो इस दिशा में भी प्रयास होना चाहिए। इसके लिए सभी अधिकारियों की सहभागिता जरूरी है।  बैठक में कलेक्टर जितेंद्र कुमार शुक्ला ने प्रभारी सचिव  देवांगन द्वारा दिए गए निर्देशों को अनिवार्य रूप से पालन करने के निर्देश जिले के अधिकारियों को दिए।

     प्रभारी सचिव देवांगन ने समीक्षा बैठक में शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन और लाभार्थी या जरूरतमंद हितग्राहियों के बीच अधिकारियों के संबंध में हो रहे अंतर को दूर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आपका कार्य केवल टेबल का वर्क ही नहीं है। फील्ड में योजनाओं, निर्माण कार्यों की मॉनिटरिंग के साथ लोगों के बीच बेहतर तालमेल का भी है। प्रभारी सचिव ने राजस्व विभाग के प्रकरणों का समय पर निराकरण करने के साथ एसडीएम और तहसीलदारों से पीड़ित को न्याय दिलाने तक कार्य करने कहा। उन्होंने जनपद सीईओ को शासन की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन, नरेगा के कार्यों का अवलोकन, पंचायत स्तर पर योजनाओं और कार्यों की समीक्षा के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने ग्रामीण स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, महिला एवं बाल विकास तथा स्वास्थ्य विभाग को समन्वय बनाकर आंगनबाड़ी तथा स्वास्थ्य केंद्रों में नल द्वारा पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने पीएचई के ईई को निर्देशित किया कि पाइप लाइन की वजह से जो भी सड़के क्षतिग्रस्त हुई है उसका मरम्मत कर आवागमन सुनिश्चित कराएं। जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि पेंशन सहित अन्य प्रकरण किसी भी स्थिति में लंबित न रहे।


      प्रभारी सचिव ने जिले में खाद,बीज के भंडारण और वितरण की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि किसानों को खाद,बीज समय पर वितरण सुनिश्चित हो इस दिशा में कार्य करे। उन्होंने बैंकों में किसानों की लग रही लाइन पर नाराजगी व्यक्त करते हुए नोडल अधिकारी,सहकारी बैंक को व्यवस्था ठीक करने के निर्देश दिए। बैठक में जनपद सीईओ को ग्राम पंचायतों में कार्यों का मूल्यांकन समय पर करने के निर्देश देते हुए कहा कि इसमें विलंब या लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। प्रभारी सचिव ने ग्राम पंचायतों के नोडल अधिकारियों को भी योजनाओं और कार्यों की समीक्षा के निर्देश दिए। उन्होंने श्रम विभाग की योजनाओं, महिला एवं बाल विकास विभाग अंतर्गत मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से पौष्टिक लड्डुओं के वितरण की जानकारी ली और एसडीएम को निरीक्षण के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने तहसीलदारों को बी वन वाचन, फौती नामांतरण के संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने खाद्य विभाग अन्तर्गत नए राशन कार्ड बनाने के साथ हितग्राहियों को वितरण सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने गौठानों का अवलोकन करने, ऋण पुस्तिका किसानों के हाथ रखने, पलायन पर रोक लगाने और नरेगा से कार्य देने, समाज कल्याण विभाग को दिव्यांगों को शासन की योजनाओं से लाभान्वित करने सहित अन्य निर्देश दिए।


     कलेक्टर  जितेंद्र कुमार शुक्ला ने प्रभारी सचिव द्वारा दिए गए सभी निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को देते हुए कहा कि जिले में योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन हो और जो भी शिकायत है उसका समय पर निराकरण सुनिश्चित हो,इस दिशा में और भी अच्छे से कार्य किया जाएगा।


      बैठक में पुलिस अधीक्षक  विजय अग्रवाल, अपर कलेक्टर  राहुल देव, डीएफओ सौरभ सिंह, सभी एसडीएम सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

From Around the web