’अक्ती पर्व : माटी पूजा महाभियान की हुई शुरुआत’

 
pic

बिलासपुर : जिले के बैरिस्टर छेदीलाल कृषि महाविद्यालय में अक्ती पर्व के अवसर पर माटी पूजा महा अभियान की शुरुआत हुई। इस अवसर पर माटी पूजन के जरिए उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने परंपरागत खेती से धरती को बचाने का संकल्प लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष बैजनाथ चंद्राकर द्वारा मुख्यमंत्री का संदेश भी पढ़ा गया।संदेश के जरिये किसानों को  परंपरागत खेती को बढ़ावा दिए जाने और अपनी समृद्ध संस्कृति और परंपरा की ओर लौटने के लिए प्रोत्साहित किया गया। अपने संदेश में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा हमारे जीवन का मूल यहाँ की माटी है। हमें इसे हमेशा जीवंत मानते हुए इसका आदर सम्मान करना चाहिए। इस महा अभियान के माध्यम से रासायनिक खादों और कीटनाशकों के स्थान पर जैविक खाद, वर्मी कंपोस्ट और गोमूत्र के प्रयोग को बढ़ावा दिए जाने का संकल्प लिया गया।


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष बैजनाथ चंद्राकर ने कहा कि प्रदेश में वैज्ञानिक अनुसंधान द्वारा खेती को लगातार आधुनिक बनाने का प्रयास किया जा रहा है। पिछले तीन वर्षों में प्रदेश में कृषि के क्षेत्र में काफी समृद्धि आयी है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे आनंद मिश्रा ने कहा कि खेती-किसानी को समृद्ध बनाने के लिए इस दिशा हो रहे बदलावों की जानकारी और समझ होना भी जरूरी है।


     कार्यक्रम स्थल में जैविक उत्पादों एवं उन्नत बीजों की प्रदर्शनी भी लगायी गयी थी। हितग्राहियों को प्रदर्शनी के माध्यम से उन्नत खेती के बारे में जानकारी भी प्रदान की गयी।
       इस अवसर पर पर्यावरण संरक्षण मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, नगर निगम बिलासपुर के महापौर  रामशरण यादव,जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रमोद नायक, जिला किसान कांग्रेस के अध्यक्ष  संदीप शुक्ला, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष  विजय केशरवानी, कृषि महाविद्यालय के डीन डॉ आर.के. शुक्ला सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं बड़ी संख्या में किसान और हितग्राही मौजूद रहे।

From Around the web