समाज के विभिन्न अंगों के प्रति उत्तरदायित्व की भावना के साथ हो प्रबंधन

 
pic

भोपाल :  राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि व्यावसायिक, सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक जीवन के सभी क्षेत्रों में सफलता का आधार प्रबंधन है। देशवासियों के विकास की गतिविधियों में साधन, संसाधनों में उपयुक्त समन्वय और विकास योजनाओं के निर्माण में प्रबंधकों की सहभागिता राष्ट्र समाज की ताकत है। उन्होंने कहा है कि शिक्षा और उद्योग का क्षेत्र समाज के विकास के लिये बहुत ही महत्वपूर्ण है, जिसका समाज के विभिन्न अंगों के प्रति उत्तरदायित्व की भावना के साथ प्रबंधन किया जाना चाहिए।  राज्यपाल  पटेल कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कंवेंशन सेंटर में भोपाल मैनेजमेंट एसोसिएशन द्वारा आयोजित बी.एम.ए. विजनरी अवार्डस 2022 कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

    राज्यपाल  मंगुभाई पटेल ने कहा है कि उत्पादन के साधनों को उत्पाद बनाने वाला जीवनदायी तत्व प्रबंधन है, जो उत्पादन प्रक्रिया का नेतृत्व करता है। व्यवसायिक उद्यम, संगठन की उपयोगी गतिविधियों का नेतृत्व कर कार्य बल को गतिशीलता देता है। जरूरी है कि प्रबंधन की समस्त क्रियाएँ मानवीय विकास और व्यक्तियों की कार्य-कुशलता में वृद्धि द्वारा राष्ट्र, समाज के सर्वांगीण विकास में योगदान दें। उन्होंने भोपाल मैंनेजमेंट एसोसिएशन को सम्मान समारोह आयोजन के लिए बधाई दी।

राज्यपाल ने कहा कि संस्था द्वारा सिकल सेल रोग नियंत्रण प्रयासों में सहयोग का निर्णय सराहनीय है। उन्होंने कहा कि सिकल सेल आनुवंशिक रोग है, जिसकी बहुलता प्रदेश के जनजातीय समाज में है। प्रदेश की आबादी का 21 प्रतिशत भाग जनजातीय समुदाय का है। वर्तमान में जनजातीय आबादी करीब पौने 2 करोड़ से अधिक होना अनुमानित है। इतनी बड़ी आबादी में आनुवंशिक रोग चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि मानव प्रकृति की सबसे सामर्थ्यवान रचना है, जिसे बुद्धि और वाणी की विशेष शक्ति मिली है। हर व्यक्ति का यह दायित्व है कि वह अपनी प्रतिभा का उपयोग समाज के वंचित, पिछड़े व्यक्तियों के विकास में करें। उन्होंने कोरोना महामारी के साथ संघर्ष में प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने समाज का मनोबल बनाए रखने और समाज सेवी शक्तियों को मज़बूती प्रदान कर देश को बड़ी क्षति से बचाया है।  

    चिकित्सा शिक्षा मंत्री  विश्वास सारंग ने कहा कि समाज का सहयोग लोकतांत्रिक व्यवस्था का आधार है। राज्य सरकार द्वारा खुले मन से प्राइवेट, पब्लिक पार्टनरशिप मोड में जन-सहभागिता के साथ तेजी से कार्य किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश नए कलेवर में खड़ा हो रहा है। गतिशील समाज के लिए देश की संसद अब कानूनों को बनाने के साथ ही अप्रासंगिक नियमों को समाप्त भी कर रही है।

    राज्यपाल मंगुभाई पटेल का समारोह में शॉल, श्रीफल, पौधा और स्मृति चिन्ह भेंट कर अभिनंदन किया गया।  पटेल ने शिक्षा में बी.एम.ए. लीजेंड अवार्ड से जे.एन. चौकसे, हॉस्पिटलिटी में बी.एम.ए. ऑयकन अवार्ड से आलोक नंदा, लॉजिस्टिक में बी.एम.ए. रतन अवार्ड  अशोक आनंद, मैन्युफैक्चरिंग में बी.एम.ए. इमर्जिग इंटरप्रेनर  प्रखर तिवारी, स्टार्टअप में बी.एम.ए. शाइनिंग स्टार अवार्ड  अरनव गुप्ता, फिजियोथेरपी में बी.एम.ए. इमर्जिंग स्टार्टअप अवार्ड  अनुभा सिंघई, इनोवेशन इन हर्बल एग्स में बी.एम.ए. दि इंसपायर अवार्ड आदित्य किशोर गुप्ता, लीगल सर्विस में बी.एम.ए. प्राइम प्लेयर अवार्ड महेंद्र श्रीवास्तव और शिक्षा में बी.एम.ए. शाइनिंग स्टार अवार्ड संस्था ट्रेनिंग एंड लर्निग इंडिया को अवार्ड प्रदान किया।   

   भोपाल मैंनेजमेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रदीप कर्मविलकर ने बताया कि उनके लिए अत्यंत गर्व का विषय है कि संस्था के आयोजन में पहली बार राज्यपाल शामिल हुए हैं। उन्होंने बताया कि संस्था द्वारा सम्मान समारोह की इस कड़ी को भविष्य में निरंतरता प्रदान की जाएगी। संस्था के मानद सचिव  अजय कुमार वर्मा ने आभार माना।

From Around the web