हरियाली अमावस्या पर गौ-संवर्धन बोर्ड द्वारा 11 हजार पौध-रोपण का लक्ष्य

 
pic

भोपाल :  मध्यप्रदेश गौ-पालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड की कार्य परिषद के अध्यक्ष महामण्डलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि ने बताया है कि हरियाली अमावस्या-28 जुलाई, 2022 को प्रदेश की सभी पंजीकृत और क्रियाशील गौ-शालाओं में 11 हजार पौध-रोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। आगर-मालवा जिले के सालरिया में स्थित कामधेनु गौ-अभयारण्य परिसर में होने वाले वृहद कार्यक्रम में 2100 पौधे रोपे जायेंगे। प्रदेश के गौशाला प्रबंधकों को प्रत्येक परिसर में इस दिन कम से कम 5 पौध-रोपण का निर्देश दिया गया है। यह निर्णय आज स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि की अध्यक्षता में गौ-पालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड की बैठक्में लिया गया। बैठक में पशुपालन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी और प्रमुख संतों ने भाग लिया।

स्वामी अखिलेश्वरानंद ने बताया कि मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान द्वारा हाल ही में सीहोर जिले के आंवली घाट में हरियाली अमावस्या के दिन प्रदेश के नर्मदा तट एवं सभी जिलों में पौध-रोपण के संकल्प के अनुपालन में बोर्ड द्वारा हरियाली अमावस्या पर पौध-रोपण किया जायेगा। रीवा जिले के बसावन मामा गौवंश वन विहार में 251 और ग्वालियर जिले के रानीघाटी में 501 पौध-रोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रदेश में लगभग 1665 क्रियाशील गौ-शालाएँ हैं।

पशुपालन एवं डेयरी विभाग और जिला गौ-पालन एवं पशुधन संवर्धन समिति के अध्यक्षों को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिये गये हैं। संबंधितों से कहा गया है कि जून माह में पौध-रोपण के लिये गड्ढ़ा खोदने का काम पूरा कर एक-एक किलो वर्मी और मिट्टी से भरें। इनमें पीपल, नीम, बरगद, आँवला, कदम्ब, आम, इमली, महुआ, बिल्व, अर्जुन और औषधीय गुण वाले पौधों का रोपण किया जायेगा।

From Around the web